PreviousNext

बैंककर्मी पर रुपये के हेर-फेर का आरोप

Publish Date:Tue, 21 Mar 2017 03:03 AM (IST) | Updated Date:Tue, 21 Mar 2017 03:03 AM (IST)
बैंककर्मी पर रुपये के हेर-फेर का आरोपबैंककर्मी पर रुपये के हेर-फेर का आरोप
जमुई। शहर के बैंक ऑफ इंडिया में नोटबंदी के दौरान जमा किए 35 हजार 3500 रुपये में तब्दील हो गया।

जमुई। शहर के बैंक ऑफ इंडिया में नोटबंदी के दौरान जमा किए 35 हजार 3500 रुपये में तब्दील हो गया। इस संदर्भ में पीड़ित युवती द्वारा स्थानीय थाना में एक आवेदन देकर बैंक के कैशियर पर रुपये के हेर-फेर करने का आरोप लगाया है। बताया जाता है कि प्रधानमंत्री द्वारा घोषित नोटबंदी के दौरान प्रखंड के बाराजोर गांव के मो. जुमन अंसारी की पुत्री शहनाज परवीन ने 10 नवम्बर 2016 को बैंक ऑफ इंडिया के झाझा शाखा में 35 हजार रुपये जमा किया। 17 मार्च को जब वह पैसा निकालने गई तो उस तिथि को मात्र 3500 रुपये ही खाता में था। यह देख पीड़िता बैंक में ही रोने लगी। जब बैंक प्रबंधक ने जमा पर्ची निकाला तो उस पर्ची में 35 हजार के जगह 3500 किया हुआ था। बैंक प्रबंधक ने कहा कि जितना पैसा जमा किए हैं उतना बैंक में जमा किया हुआ है। इस मामले में पूर्व जिला पार्षद सह जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष धर्मदेव यादव ने मामले की जांच की तो पैसे का हेर फेर बैंक में ही हुआ पाया। इस संदर्भ में पीड़ित लड़की ने स्थानीय थाना को आवेदन देकर कार्रवाई की मांग की है।

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:complain(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

महापरीक्षा में 32,622 नवसाक्षर हुए शामिलप्रकाश बने मुंगेर के संगठन प्रभारी
यह भी देखें