PreviousNext

न चिकित्सक न दवाई, फिर भी कहलाता अस्पताल

Publish Date:Wed, 11 Jul 2012 09:41 PM (IST) | Updated Date:Wed, 11 Jul 2012 09:42 PM (IST)
न चिकित्सक न दवाई, फिर भी कहलाता अस्पताल

बसैटी (अररिया), संसू: स्वास्थ्य विभाग में सुधार के दावों के बीच एक ऐसा भी अस्पताल है जहां न चिकित्सक हैं न दवाई। रानीगंज प्रखंड के गीतवास बाजार सहित अतिरिक्ति स्वास्थ्य का भवन खंडहर में तब्दील हो गया है। हालांकि इस केंद्र पर यदा-कदा एएनएम व नर्स दिखाई पड़ती है।

ग्रामीण रामचंद्र चौधरी, अनिल साह, दीपक साह आदि का कहना है कि इस अस्पताल से लोगों को कोई लाभ नहीं मिलता है। दीगर बात है कि भवन अनाज का बोरा रखने एवं रेन बसेरे के काम आ रहा है। देखरेख के अभाव में जर्जर होते इस केन्द्र पर न तो दवाई दी जाती है और न ही चिकित्सक आते हैं। हालांकि कागजों में यहां चार स्वास्थ्य कर्मी पदस्थापित हैं। ग्रामीण बताते हैं कि 15 वर्ष पूर्व इस अस्पताल में प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में रोगियों का जांच कर दवाइयां वितरण किया जाता था। परंतु आज ग्रामीण स्वास्थ्य लाभ से महरूम है। कमोबेश यही स्थिति बसैटी, मिर्जापुर, बेलसरा, परसा हाट, अति स्वास्थ्य केन्द्र की है जहां लोग स्वास्थ्य लाभ से वंचित हो रहे हैं। इन क्षेत्र के लोग नीम हकीम डाक्टर के हत्थे चढ़ने को विवश है।

क्या कहते है पदाधिकारी:

रेफरल अस्पताल रानीगंज के प्रभारी चकित्सक सीपी मंडल इन आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहते हैं रानीगंज में मात्र चार चिकित्सक हैं। सभी आयूष चिकित्सक को पदस्थापित किया गया है। अब आयुर्वेदिक दवाई उपलब्ध हो गयी है। ये चिकित्सक दवाई देंगे। सभी अति स्वास्थ्य केन्द्र पर एएनएम, ए ग्रेड की नर्स एवं आयुर्वेदिक चिकित्सक जाते हैं। शिकायत मिलने उपर उसके विरुद्ध विभाग लिखा जायेगा। उन्होंने कहा कि गीतवास अति स्वास्थ्य केंद्र के मरम्मत कराने हेतु राशि उपलब्ध हो गयी है। शीघ्र ही भवन की मरम्मती करवायी जाएगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर

कमेंट करें

    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)
    चार दिवसीय कोकून मंडी शुरूयह क्या: महामाया सचल अस्पताल वाहन की दुर्दशा
    यह भी देखें

    अपनी प्रतिक्रिया दें

    अपनी भाषा चुनें
    English Hindi


    Characters remaining

    लॉग इन करें

    निम्न जानकारी पूर्ण करें

    Name:


    Email:


    Captcha:
    + =


     

      यह भी देखें
      Close